भारतीय वैश्विक परिषद

सप्रू हाउस, नई दिल्ली
बुक लॉन्च - अ बांग्लादेश वॉर कमेंट्री, 7 सितंबर 2021।
बुक लॉन्च - अ बांग्लादेश वॉर कमेंट्री, 7 सितंबर 2021।
महामहिम श्री अब्दुल्ला शाहिद मालदीव, गणराज्य के विदेश मंत्री और 76वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा के निर्वाचित अध्यक्ष द्वारा 38वां सप्रू हाउस व्याख्यान 'प्रेसीडेंसी ऑफ होप - संयुक्त राष्ट्र महासभा का 76 वां सत्र कोविड महामारी और बहुपक्षवाद में सुधार की आवश्यकता', 23 जुलाई 2021।
महामहिम श्री अब्दुल्ला शाहिद मालदीव, गणराज्य के विदेश मंत्री और 76वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा के निर्वाचित अध्यक्ष द्वारा 38वां सप्रू हाउस व्याख्यान 'प्रेसीडेंसी ऑफ होप - संयुक्त राष्ट्र महासभा का 76 वां सत्र कोविड महामारी और बहुपक्षवाद में सुधार की आवश्यकता', 23 जुलाई 2021।
‘भारत-वियतनाम संबंधों में नई क्षितिज’ विषय पर आईसीडब्लूए-वीआईआईएसएएस अंतरराष्ट्रीय वेबीनार में विदेश राज्य मंत्री श्री वी. मुरलीधरन आधार व्याख्यान देते हुए, 7 अक्तूबर, 2020
‘भारत-वियतनाम संबंधों में नई क्षितिज’ विषय पर आईसीडब्लूए-वीआईआईएसएएस अंतरराष्ट्रीय वेबीनार में विदेश राज्य मंत्री श्री वी. मुरलीधरन आधार व्याख्यान देते हुए, 7 अक्तूबर, 2020
श्री एम. वेंकैया नायडू, भारत के माननीय उपराष्ट्रपति और राष्ट्रपति, आईसीडब्ल्यूए,  'गांधी और विश्व' पर आईसीडब्ल्यूए अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार में वैलेडिकिटरी संबोधन देते हुए, 2 अक्टूबर 2020
श्री एम. वेंकैया नायडू, भारत के माननीय उपराष्ट्रपति और राष्ट्रपति, आईसीडब्ल्यूए, 'गांधी और विश्व' पर आईसीडब्ल्यूए अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार में वैलेडिकिटरी संबोधन देते हुए, 2 अक्टूबर 2020
Shri Harsh Vardhan Shringla, Foreign Secretary, Ministry of External Affairs, delivering the Lecture on ‘Broad Canvas of Indian Diplomacy during the Pandemic’, 4 September 2020
Shri Harsh Vardhan Shringla, Foreign Secretary, Ministry of External Affairs, delivering the Lecture on ‘Broad Canvas of Indian Diplomacy during the Pandemic’, 4 September 2020
महामहिम श्री ओलाफुर राग्नर ग्रिमसन, आइसलैंड के भूतपूर्व राष्ट्रपति एवं आर्कटिक सर्कल के चेयरमैन द्वारा 33 वां सप्रू हाउस व्याख्यान सह विशेष संबोधन, 4  मार्च 2020
महामहिम श्री ओलाफुर राग्नर ग्रिमसन, आइसलैंड के भूतपूर्व राष्ट्रपति एवं आर्कटिक सर्कल के चेयरमैन द्वारा 33 वां सप्रू हाउस व्याख्यान सह विशेष संबोधन, 4 मार्च 2020
माननीय विंस्टन पीटर्स, उप प्रधान मंत्री और विदेश मंत्री, न्यू ज़ीलैण्ड द्वारा
माननीय विंस्टन पीटर्स, उप प्रधान मंत्री और विदेश मंत्री, न्यू ज़ीलैण्ड द्वारा "हिन्द-प्रशांत: सिद्धांतों से साझेदारी तक" पर 35 वां सप्रू हाउस व्याख्यान | 26 फरवरी 2020
डॉ. ए. अप्पोरादाई, पूर्व महासचिव, विश्वमामलों कि भारतीय परिषद् के जीवन और कार्यों का स्मरण करते हुए, 10 दिसम्बर 2019.
डॉ. ए. अप्पोरादाई, पूर्व महासचिव, विश्वमामलों कि भारतीय परिषद् के जीवन और कार्यों का स्मरण करते हुए, 10 दिसम्बर 2019.
डॉ. टी.सी.ए. राघवन, महानिदेशक, वि.मा.भा.प. 6 वें हिंद महासागर संवाद [IOD] मे, नई दिल्ली, 13 दिसंबर 2019।
डॉ. टी.सी.ए. राघवन, महानिदेशक, वि.मा.भा.प. 6 वें हिंद महासागर संवाद [IOD] मे, नई दिल्ली, 13 दिसंबर 2019।
श्री वी. मुरलीधरन, राज्य मंत्री, विदेश मंत्रालय और संसदीय मामले द्वारा
श्री वी. मुरलीधरन, राज्य मंत्री, विदेश मंत्रालय और संसदीय मामले द्वारा "टेकिंग स्टोक ऑफ़ इंडिया-लेटिन अमेरिका एंड कैरेबियन रिलेशन" विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी के उद्घाटन सत्र में विशेष संबोधन देते हुए, 8 अगस्त, 2019.
प्रो. डेविड न्यूमैन, मानविकी और सामाजिक विज्ञान संकाय, बेन-गुरियन विश्वविद्यालय
प्रो. डेविड न्यूमैन, मानविकी और सामाजिक विज्ञान संकाय, बेन-गुरियन विश्वविद्यालय "इजरायल के चुनाव और इजरायल-फिलिस्तीन शांति प्रक्रिया के भविष्य" विषय पर व्यख्यान देते हुए, 7 मई, 2019.
महामहिम प्रो. तिजजानी मुहम्मद-बंदे, संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74 वें सत्र के निर्वाचित अध्यक्ष,
महामहिम प्रो. तिजजानी मुहम्मद-बंदे, संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74 वें सत्र के निर्वाचित अध्यक्ष, "74 वें संयुक्त राष्ट्र महासभा के लिए प्राथमिकताएं" विषय पर अभिभाषण देते हुए, 2 सितंबर 2019.
श्री एम. वेंकैया नायडू, भारत के माननीय उपराष्ट्रपति और अध्यक्ष, आईसीडब्ल्यूए, परिषद के  प्रकाशन का विमोचन करते हुए, 4 सितंबर 2019
श्री एम. वेंकैया नायडू, भारत के माननीय उपराष्ट्रपति और अध्यक्ष, आईसीडब्ल्यूए, परिषद के प्रकाशन का विमोचन करते हुए, 4 सितंबर 2019

ध्यानाकर्षण

आगे पढ़े

अध्यक्ष आईसीडब्ल्यूए

भारत के माननीय उपराष्ट्रपति, श्री एम वेंकैया नायडू भारतीय वैश्विक परिषद के पदेन अध्यक्ष हैं।

महानिदेशक आईसीडब्ल्यूए

श्रीमती विजय ठाकुर सिंह महानिदेशक भारतीय वैश्विक परिषद (24 जुलाई 2021 के बाद)

आईसीडब्ल्यूए विश्लेषण

अस्वीकरण: भारतीय वैश्विक परिषद के सभी प्रकाशनों में व्यक्त विचार और मत अध्येता के हैं और परिषद या इसके किसी भी पदाधिकारी की राय को प्रतिबिंबित नहीं करते।

10 सितंबर
2021

डॉ. स्तुति बनर्जी

राष्ट्रपति बाइडेन के कार्यकाल का पूरा जोर शासन के दमनकारी रूपों के प्रसार के कारण ‘बदलाव’ के मोड़ पर पहुँच चुके लोकतंत्रों की रक्षा करना और अमेरिकी मूल्यों की पुनर्स्थापना...

10 सितंबर
2021

डॉ. अंकिता दत्ता

अफगानिस्तान यूरोपीय संघ (ईयू) और उसके सदस्य देशों के लिए एक महत्वपूर्ण देश बना हुआ है, जहां पिछले दो दशकों में उन्होंने न केवल सैन्य रूप से अपनी प्रतिबद्धता को सिद्ध...

07 सितंबर
2021

डॉ. टेम्जेनमरेन एओ

16 सितंबर, 1963 को मलेशिया फेडरेशन की स्थापना के बाद से लेकर, 2018 में हुए 14वें आम चुनावों तक, बारिसन नैशनल (बीएन) गठबंधन सत्ता में रहा है। इन वर्षों में बीएन का...

06 सितंबर
2021

डॉ. स्तुति बनर्जी

विगत कुछ महीनों में बिडेन प्रशासन के कई शीर्ष अधिकारियों ने बहुपक्षवाद एवं साझेदार बनाने पर आधारित अपनी विदेश नीति पर बल देने के हिस्से के रुप में एशिया और एशिया...

03 सितंबर
2021

डॉ. संकल्प गुरज़र

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे से कई अफ्रीकी देश अफ्रीका में आतंकवाद पर इसके प्रभाव की संभावना को लेकर चिंतित हैं। अल-कायदा, इस्लामिक स्टेट और कई अन्य...

27 अगस्त
2021

डॉ. संजीव कुमार

15 अगस्त, 2021 को काबुल के तालिबान अधिग्रहण के बाद अफगानिस्तान में सुरक्षा की स्थिति बहुत खराब हो गई है। अफगानिस्तान की स्थिति ने तत्काल मानवीय संकट पैदा कर दिया...

सप्रू हाउस व्याख्यान माला

सप्रू हाउस व्याख्यान माला
महामहिम श्री अब्दुल्ला शाहिद, मालदीव के विदेश मंत्री और 76वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा के निर्वाचित अध्यक्ष द्वारा 38 वां सप्रू हाउस व्याख्यान, 23 जुलाई 2021

आगे पढ़े

सप्रू हाउस लाइव वेबकास्ट Archive

आईसीडब्ल्यूए जर्नल

...
परिषद का प्रमुख प्रकाशन 'इंडिया क्वार्टरली' (ए जर्नल ऑफ़ इंटरनेशनल अफेयर्स) है। यह 1945 में शुरू किया गया था और 2010 में प्रकाशन के अपने 66 वें वर्ष में प्रवेश किया था। वर्ष 2020 से 'इंडिया क्वार्टरली' का हिंदी प्रकाशन भी शुरू किया जा चूका है ।

आगे पढ़े

मौखिक इतिहास परियोजना

भारतीय वैश्विक परिषद का ओरल हिस्ट्री प्रोजेक्ट, जिसके तहत पूर्व वरिष्ठ भारतीय राजनयिकों ने सेवा में रहते हुए अपने अनुभव सुनाए, उन्हें राजदूत किशन एस राणा और राजदूत इशरत अजीज ने विदेश मंत्रालय के सहयोग से संचालित किया। ओरल हिस्टरीज़ को एक बुकलेट फॉर्म में मुद्रित किया गया है, और आईसीडब्ल्यूए लाइब्रेरी, एमईए लाइब्रेरी और एफएसआई लाइब्रेरी में रखा गया है।

आगे पढ़े

राजनय की विरासत

"राजनय की विरासत" राजदूतों और वरिष्ठ राजनयिकों द्वारा लिखित पुस्तकों का एक गुलदस्ता है। यह विशेष संग्रह विश्व मामलों की भारतीय परिषद के पुस्तकालय में उपलब्ध है। इस संग्रह में हमारे राजदूतों द्वारा भारत के अन्य देशों के साथ अनुभवजन्य किस्से, संस्मरण, लघु कथाएँ, आत्मकथात्मक लेख और भारत के अन्य देशों के साथ संबंधों का छिद्रान्वेषण हैं।

आगे पढ़े

परिषद की पुस्तकें

सप्रू हाउस : ए स्टोरी ऑफ़ इंस्टीटूशन-बिल्डिंग इन वर्ल्ड अफेयर्स- डॉ. टी. सी. ए. राघवन एवं डॉ. विवेक मिश्रा (आईसीडब्ल्यूए 2021)
-

आगे पढ़े

फोटो गैलरी

परिषद की विरासत

...

सप्रू हाउस पुस्तकालय